Home > Articles > UPSC CSE : कार्य करते हुए तैयारी करें

UPSC CSE : कार्य करते हुए तैयारी करें

यह एक ज्ञात तथ्य है कि UPSC सिविल सेवा परीक्षा के लिए तैयारी करना एक चुनौतीपूर्ण कार्य है। पाठ्यविवरण महासागर के समान विशाल है। यह कहने की आवश्यकता नहीं है कि पूरे समय कार्य करने के साथ ही UPSC सिविल सेवा के लिए तैयारी करना थोड़ा अधिक चुनौतीपूर्ण है। इसके लिए उम्मीदवारों से अतिरिक्त प्रयास की आवश्यकता होती है, क्योंकि उनके पास अध्ययन के लिए प्रतिदिन 15-16 घंटे का समय व्यतीत करने के लिए नहीं होता है और उन पर समय प्रतिबंध और अतिरिक्त ज़िम्मेदारियां भी होती हैं।

फिर भी, पेशेवर व्यक्तियों के लिए UPSC CSE परीक्षा की तैयारी करना और उसे उत्तीर्ण करना संभव है। यह आपकी तैयारी की मात्रा से नहीं, बल्कि तैयारी की गुणवत्ता पर निर्भर करता है। अच्छी रणनीति और समर्पण के साथ कोई भी परीक्षा उत्तीर्ण कर सकता है। हालांकि, UPSC CSE तैयारी के लिए समय का उपयोग प्रभावी रूप से करने हेतु आपके कार्यक्रम में कुछ बदलाव किए जाने की आवश्यकता है।

कार्यकारी पेशेवरों को लाभ है कि

उन लोगों की तुलना में जो कुछ भी कार्य नहीं कर रहे हैं, उनकी नौकरी उनके लिए पीछे हट जाने का विकल्प है ।

यह एक लाभ कैसे है?

वे उम्मीदवार जो UPSC CSE के लिए पूर्णकालिक तैयारी कर रहे हैं वे जानते हैं कि यदि वे परीक्षा को क्लीयर (उत्तीर्ण) नहीं कर सके तो उनके पास पीछे हटने का कोई दूसरा विकल्प नही है। उन्हें यह भी डर है कि उनकी तैयारी में समय बर्बाद हो रहा है। यह विचार हमेशा उनके सिर में घूमता रहता है और तनाव उत्पन्न कर सकता है या उन्हें हताश कर सकता है। जबकि पेशेवर कार्य करने वालों के पास उनकी नौकरी हमेशा से एक उनके पीछे हट जाने के लिए विकल्प है और इसलिए वे ज्यादा आराम से और तनाव मुक्त रहते हैं।

पूर्णकालिक कार्य करते हुए UPSC CSE परीक्षा को उत्तीर्ण करना आपके साक्षात्कार के दौरान आपको एक अच्छी छवि में रखेंगे। यह साक्षात्कारकर्ता को दर्शाएगा कि आप ऐसे व्यक्ति हैं जो ज़िम्मेदारियों को लेते हैं, एक समय में कई बातों को सुनियोजित करते हैं और देश की GDP में योगदान दे रहे हैं।

एक ही समय में परीक्षा के लिए कार्य और तैयारी करना भी एक परिपूर्ण अनुभव है।

कार्य करते हुए UPSC CSE के लिए तैयारी करने में एक अनुशासित दृष्टिकोण की आवश्यकता है। अपनी तैयारी को अधिक प्रभावी बनाने के लिए आप अपने कार्यक्रम में कुछ बदलाव कर सकते हैं:

UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT

समय प्रबंधन

एक कर्यकारी पेशेवर होने का अर्थ होता है कि आपके समक्ष बहुत कम समय होता है। आपको अपनी तैयारी के लिए उपलब्ध समय का सबसे अच्छा उपयोग करने की आवश्यकता है। अपने सामाजिक भ्रमण को कम करें, कार्यस्थल पर अपने अंतरालों का उपयोग अच्छी तरह से करें और अपने सप्ताहांत का अधिकतम लाभ उठाएं।

उन विषयों पर छोटे नोट बनाएं जो आप घर पर पढ़ते हैं और अपने कार्यस्थल पर ले जाएं। अपनी चाय और भोजन अवकाश के दौरान इन नोट्स को दोहराएं। विभिन्न उपलब्ध ऐप के द्वारा अपने मोबाइल पर समाचारपत्रों को पढ़ना एक अच्छा विचार है।

स्टडी प्लान

यह महत्वपूर्ण है कि परीक्षा के दिन तक आपके पास एक उचित अध्ययन योजना हो और आप उसका पालन करते हों।

·         UPSC CSE पाठ्यविवरण को पढ़ें।

·         इसे विभाजित कर लें और उन समस्त विषयों की सूची बनाएं जिन्हें आपको तैयार करने की आवश्यकता है।

·         अपनी तैयारी के लिए उपलब्ध समय के अनुसार इन विषयों को विभाजित करें और प्रत्येक विषय के लिए समय निर्धारित करें।

यह सुनिश्चित करें कि आप अपने स्टडी प्लान का पालन कर रहे हैं और अपने विषयों को एकत्रित नहीं होने दें। आप इसमें देरी वहन नहीं कर सकते।

संसाधन

यह महत्वपूर्ण है कि आपके पास अपनी तैयारी के लिए सही संसाधन और सही मागदर्शन हों। यदि आप उपलब्ध समय के अन्दर पाठ्यक्रम को पूरा करने के बारे में अनिश्चित हैं तो अपने सप्ताहांत के दौरान एक कोचिंग सेंटर में शामिल हो जाना एक अच्छा विचार है।

अपनी प्रगति को मापें

यदि आप प्रगति कर रहे हैं और समय-समय पर इसे मापना है तो यह आपकी प्रगति को मापने का एकमात्र तरीका है। अपने सुधार को पता करने के लिए प्रत्येक कुछ दिनों में UPSC CSE माॅक टेस्ट को लें।

माॅक टेस्ट आपके प्रदर्शन का विश्लेषण करने में आपकी सहायता करेंगे, और आपको दर्शाएंगे कि आप कहां कमी कर रहे हैं और किन विषयों पर आप अच्छे हैं।

UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT UPSC NCERT

आप इस जानकारी का उपयोग अपने स्टडी प्लान को अनुकूलित करने और अपने कमजोर क्षेत्रों पर अधिक केन्द्रित होने और उन्हें सुधारने के लिए कर सकते हैं।

बहुत सारे ऐसे कार्य करने वाले पेशेवर हैं जिन्होंने पूर्णकालिक कार्य के दौरान UPSC CSE परीक्षा को सफलतापूर्वक उत्तीर्ण किया है। आपको केवल एक दृढ़ इच्छाशक्ति, एक अच्छी रणनीति और समर्पण चाहिए।

हम आाशा करते हैं कि हमारा लेख आपको अपना लक्ष्य भेदने के लिए प्रेरित करेगा।

आप सभी को शुभकामनाएं!


You may also like
Books for IAS Preparation
Books for IAS Preparation: 20 Non-Fiction Books Which Every Aspirant Must Read
UPSC IAS History Optional Paper 2
UPSC IAS History Optional Paper 2: Detailed Civil Services Exam Syllabus
UPSC History Optional Syllabus
UPSC History Optional Paper 1 – Detailed Syllabus
UPSC IAS Exam 2019
Last Minute Tips To Crack UPSC IAS Exam 2019