क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों के लिए IBPS RRB परीक्षा

 

प्रिय उम्मीदवार,

IBPS-Clerk-prelims-21_pushimage

सितंबर 1975 में क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक (RRB) भारत में असतित्व में आयी। वे ग्रामीण आबादी को बैंकिंग सुविधाएं प्रदान करने और अधिक वित्तीय समावेशन को सुनिश्चित करने के लिए प्रारम्भ की गईं थीं। वे कानून द्वारा मान्यता प्राप्त हैं और क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक अधिनियम 1976 (जो कि जब भी और जहां भी आवश्यकता हो सरकार को बैंक स्थापित करने की अनुमति देता है) का विधायी समर्थन है।

वर्तमान में, RRB व्यापक रूप से फैल रहा है और बैंकिंग क्षेत्र का एक मूलभूत हिस्सा है। वे ग्रामीण लोगों (उद्यमियों, कारीगरों, छोटे व्यवसायी, कृषि सहकारी समितियों) को ऋण और अग्रिम राशि प्रदान करके आर्थिक रूप से ग्रामीण क्षेत्रों में विकास को बढ़ावा देते हैं।

बैंकिंग कार्मिक चयन संस्थान (IBPS) क्रमशः RRB में अधिकारी और कार्यालय सहायकों की भर्ती के लिए IBPS RRB अधिकारी और IBPS RRB सहायक परीक्षा आयोजित करता है। इस वर्ष आईबीपीएस निम्नलिखित तिथियों पर परीक्षायें आयोजित करने की तैयारी में है –

आप में से कई लोगों में अभी भी IBPS RRB परीक्षाओं के लिए आवेदन करने के विषय में बहुत सी आशंकाएं हो सकती हैं। क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों पर आपको अधिक स्पष्टता देने के लिए और आपको सही कैरियर के निर्णय लेने में मदद करने के लिए निम्नलिखित लेख लिखा गया है। क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक और वाणिज्यिक PSU के बीच प्रमुख अंतर उनके कार्य की प्रकृति, विकास की संभावनाएं और पदस्थापन की स्थिति में है।

हालांकि, निम्नलिखित आलेख में हमने RRB में कार्य करने के लाभ और नुकसान सूचीबद्ध किए हैं। आइए इस पर नज़र डालें।

 

IBPS RRB Work Profile, Job Profile, Practice Mock Tests

 

लाभ
कार्य संतुष्टि

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के अधिकांश ग्राहक दैनिक मजदूर और किसान हैं जो कि कृषि अर्थव्यवस्था में शामिल हैं। इन लोगों को विभिन्न उद्देश्यों जैसे मनरेगा वेतन प्राप्ति, सरकारी अनुदान, कृषि प्रयोजनों के लिए उत्पादों (ट्रैक्टर, मशीनरी आदि) को खरीदने या एक नया व्यापार शुरू करने के लिए बैंक खातों की आवश्यकता होती है।

क्षेत्रीय ग्रामीण बैंक के कर्मचारी इन लोगों को ऋण प्रदान करके, कृषि वित्त और अन्य आवश्यक सुविधाओं में सहायता करते हैं, जिससे ग्रामीण या पिछड़े क्षेत्रों के विकास में सहायता मिलती है। ग्रामीण लोगों के साथ कार्य करने और उनके साथ बातचीत करने से कर्मचारियों को बहुत अधिक नौकरी की संतुष्टि मिलती है।

RRB कर्मचारी भी कृषि, प्रजनन, जल संसाधन के सर्वोत्कृष्ट उपयोग आदि के बारे में जानने के लिए सरकार द्वारा आयोजित कार्यशालाओं/ प्रशिक्षण (उनके नियमित कार्य के अलावा) में भाग लेते हैं। यह अधिकारियों को उन तरीकों को चित्रित करने में सहायता करता है जिससे वे आसानी से लोगों तक पहुँच सकते हैं, ग्रामीण आबादी के साथ प्रभावी ढंग से संवाद कर सकते हैं, उन्हें भविष्य की गतिविधियों के लिए आवश्यक वित्तीय साधनों को सुरक्षित करने के लिए बैंकों के साथ संलग्न होने का सुझाव दे सकते हैं।

कुछ अधिकारी अपनी राह से बाहर निकलकर स्वयंसेवी संगठनों में शामिल होते हैं, सेमिनार एवं अन्य कार्यक्रमों में भाग लेते हैं जिससे अन्य कर्मचारियों को अपने कैरियर में बढ़ने के लिए बढ़त मिल सके।

 

गृहनगर में पद स्थापन

RRB की आवश्यकता है कि आपको उस स्थान की स्थानीय भाषा का ज्ञान हो जहाँ आपका पदस्थापन किया जाना है, इसलिए आपके गृह राज्य में आपको पद प्राप्त होने की स्थापना बहुत अधिक है।

 

कार्य संतुलन

वाणिज्यिक बैंकों की तुलना में, RRB में नौकरी कम तनावपूर्ण है और सीमित कार्य के कारण कम कार्य का दबाव है। बैंकों के समय अधिकतर निश्चित हैं, जो यह सुनिश्चित करता है कि परिवार के साथ समय बिताने के लिए आपके पास बहुत अच्छा समय है। RRB निजी क्षेत्र के बैंकों की तुलना में बेहतर नौकरी की सुरक्षा प्रदान करती है।

 

कम खर्च

यह स्पष्ट है कि ग्रामीण क्षेत्रों में मैट्रो शहरों की शानदार जीवनशैली नहीं है और इसलिए वे बहुत सस्ती हैं। यह सुनिश्चित करता है कि आप कम खर्च करें और अधिक बचत करें

 

IBPS RRB Work Profile, Job Profile, Practice Mock Tests

 

हानियाँ
कार्य की सीमित व्यापकता

जैसा कि ऊपर दिए गए बिन्दुओं में उल्लेखित है, RRB के कार्य सीमित हैं। उनके अधिकांश कार्य में ग्रामीण आबादी के साथ बातचीत करना, उनकी बैंक खाते खोलने में सहायता करना, उन्हें ऋण प्रदान करना, कृषि वित्तपोषण में उनकी दिनचर्या के अतिरिक्त सहायता करना शामिल हैं।

RRB एक विशेष उद्देश्य के लिए विद्यमान है और यह ग्रामीण लोगों (किसानों, उद्यमियों और ग्रामीण सहकारी समितियों) को क्रेडिट और बैंकिंग सुविधाएं प्रदान करने में सहायता करती है। वाणिज्यिक बैंकों की तुलना में RRB के पास उत्पादों और सेवाओं के सीमित विकल्प हैं।

इसका तात्पार्य है कि RRB अधिकारियों और सहायकों के लिए कार्य का दायरा अपेक्षाकृत कम है। बहतु सारे कर्मचारी RRB में कार्य करते हैं, अनुभव हासिल करते हैं और CAIIB एवं JAIIB परीक्षायें देते हैं जिससे अन्य PSU में शामिल होकर अधिक कैरियर के अवसर तलाश कर सकें।

 

सीमित वृद्धि

RRB में वृद्धि लगभग उतनी अच्छी नहीं है, क्योंकि यह वणिज्यक सार्वजनिक क्षेत्रों की बैंक में है। इसके बहुत सारे कारण हैं –

  • उचित प्रशिक्षण या पाठ्यक्रमों तक सीमित या कोई पहुँच नहीं
  • वरिष्ठ पद अधिकतर प्रायोजक बैंकों के अधिकारियों द्वारा भरे गए हैं
  • अधिकतर RRB में एक अधिकारी केवल स्केल III या IV (चीफ मैनेजर) तक बढ़ सकता है।

विकास मुख्य रूप से वरिष्ठता और प्रभाव जैसे कारकों पर निर्भर करता है।

हालांकि, JAIIB/ CAIIB परीक्षा उत्तीर्ण करने से RRB अधिकारियों को बैंक सेवा में उच्च वेतन वृद्धि का अधिकार मिल सकता है।

 

प्रौद्योगिकी और पहुँच

RRB ज्यादातर दूरदराज के गामीण इलाकों में स्थित है, जिसके कारण उनके पास प्रौद्योगिकी की पहुँच नहीं है। बहुत सारे ग्रामीण इलाकों में अभी भी अनयमित बिजली आपूर्ति है। RRB में सुख साधनों की कमी भी है जिनका शहर के निवासी आनंद लेते हैं। इस तरह के वातावरण में जनशक्ति प्रशिक्षण एक चुनौती बन जाता है।

free mock tests online

हमें उम्मीद है कि उपरोक्त आलेख ने आपको क्षेत्रीय ग्रामीण बैंकों पर स्पष्टता दी है  और आपको सही कैरियर निर्णय लेने में सहायता प्रदान करेगी।

 

निःशुल्क माॅक अेस्ट लेने के लिए यहाँ क्लिक करें IBPS RRB अधिकारी | IBPS RRB सहायक

 

आगे पढ़ें

IBPS RRB प्रीलिम्स तैयारी की कार्यनीति

 

 


Leave a comment