UPSC CSE परीक्षा – प्रभावी तरीके से समाचार-पत्र पढ़ें

नियमित रूप से समाचार-पत्र पढ़ना यूपीएससी सिविल सेवा परीक्षा की तैयारी का अनिवार्य भाग है। वास्तव में, समाचार-पत्र पढ़ना, परीक्षा की तैयारी का एक अभिन्न हिस्सा है, चाहे वह UPSC CSE परीक्षा हो या अन्य परीक्षाएं जैसे कि CAT, IIFT, SBI PO, IBPS PO आदि।

समाचार पत्र को प्रभावी तरीके से पढ़ें :-

– मुद्दों पर ध्यान केन्द्रित करें, समाचारों पर नहीं

– पढ़ने के दौरान नोट्स बनाएं

– समझें: क्या, क्यों और कैसे

– अपने शौक से संबंधित समाचार पढ़ें

पहला सवाल उठता है,

तैयारी के दौरान नियमित रूप से एक अच्छा समाचार-पत्र पढ़ना इतना महत्वपूर्ण क्यों है?

इन सभी परीक्षाओं में या तो सामान्य जागरूकता (जनरल अवेयरनेस) भाग होता है या निबंध लेखन भाग होता है और इन क्षेत्रों में अच्छी तरह से प्रदर्शन करने के लिए सामग्री को सर्वश्रेष्ठ तरह से समाचार-पत्र द्वारा प्रदान किया जाता है।

नियमित समाचार-पत्र पढ़ने से आप केवल सामयिक विषय के साथ नहीं रहेंगे बल्कि आपको निबंध लिखने या साक्षात्कार में प्रश्न का उत्तर देते समय अपने विचार व्यक्त करने के लिए ज्ञान भी प्राप्त होगा।

UPSC Exams Civil services exams IAS preparation IAS officer Mock tests register free mock test CSAT Oliveboard Mocks IAS Mocks How to read newspaper effectively for IAS Preparation

इस सब के बावजूद, यहाँ हम सावधानी का उल्लेख करना चाहते हैं। नियमित पढ़ना पर्याप्त नहीं है। आवश्यक है कि प्रभावी पढ़ा जाए।

इस आलेख में, हम आपको समाचार-पत्र पढ़ने के समय को निर्धारित करने के तरीकों का उल्लेख करेंगे।

आपको कितने समाचार-पत्र पढ़ने चाहिए?

यह एक बहुत ही सामान्य रूप से पूछा जाने वाला प्रश्न है और इसका आसान उत्तर है – एक!

कुछ लोग एक विशेष समाचार-पत्र की सिफारिश भी कर सकते हैं, लेकिन आप यह सुनिश्चित कर लें कि आपने उस समाचार-पत्र का चयन किया है जिसे पढ़ना आपके लिए सुविधापूर्ण है। क्योंकि हमारा लक्ष्य समझना और सीखना है भाषा में फंसना नहीं। The Hindu सबसे अधिक पढ़ा जाने वाला समाचार पत्र है। इसमें वास्तव में कुछ अच्छे संपादकीय हैं और भाषा का स्तर ऐसा है जो कुछ प्रयास और अभ्यास से समझ आ जाता है।

क्या पढ़ना है और क्या पढ़ना नहीं है?

नियमानुसार, मुद्दों पर ध्यान केन्द्रित करें और समाचार पर नहीं।

How to effectively read newspapers for UPSC CSE, CAT, IIFT

 

उदाहरण के लिए,  इस चित्र में शीर्षक ही समाचार है और यह महत्वपूर्ण नहीं है, लेकिन यह मुद्दा, जो कि ‘‘नैतिक नियंत्रण’’ का उल्लेख है, महत्वपूर्ण है। अतएव कुछ बिन्दुओं को आलेख से चिन्हित किया जा सकता है जिससे इस मुद्दे पर आपका उत्तर अधिक व्यापक और पर्याप्त बन सके।

क्या घटित हुआ है यह समाचार है और किसी विशेष विषय पर इन दैनिक समाचारों का संग्रह एक मुद्दा है। उदाहरण के लिए,

‘जलवायु परिवर्तन’ का मुद्दा और उससे संबंधित समाचार – पैरिस शिखर समझौते, कार्बन उत्सर्जन कटौती पर चीन-अमेरिकी समझौते आदि।

इस प्रकार, मुख्य समाचारों के लिए समाचार-पत्र के पहले पृष्ठ को आप सिर्फ 5 मिनट से कम समय में देख सकते हैं।

 

 

 

आइए देखते हैं कि परीक्षा के दृष्टिकोण से कौन से विषय महत्वपूर्ण हैं और कौन से विषय हैं जिनसे दूर रहा जा सकता है।

– आयोजित प्रेस काॅन्फ्रेंस (जो विशिष्ट राजनैतिक दलों द्वारा आयोजित की गई हैं वे महत्वपूर्ण नहीं हैं), संघ और राज्य सरकारों द्वारा की गई घोषणाएं, सभी योजना घोषणाएं महत्वपूर्ण हैं।

राष्ट्रीय महत्व के समाचार महत्वपूर्ण हैं। लेकिन सुनिश्चित करें कि आप इनके ‘‘क्या, क्यों और कैसे’’ तैयार करते हैं। उदाहरण के लिए,

रेलवे दुर्घटनाएं: कितने लोग मारे गए = महत्वपूर्ण नहीं है। रेल दुर्घटनाओं के कारण और भविष्य की दुर्घटनाओं को रोकने के सुझाव = महत्वपूर्ण हैं।

UPSC Exams Civil services exams IAS preparation IAS officer Mock tests register free mock test CSAT Oliveboard Mocks IAS Mocks How to read newspaper effectively for IAS Preparation

– अंतर्राष्ट्रीय महत्व की घटनाओं के समाचार जैसे कि समझौते और संधियों पर हुए हस्ताक्षर, प्रमुख देशों (यूके, यूएस) में चुनाव। लंबी कहानी को कम करें तो, कुछ बातें जो भविष्य को प्रभावित करेंगी या लंबी अवधि तक प्रासंगिक रहेंगी महत्वपूर्ण हैं।

अर्थव्यवस्था का विषय महत्वपूर्ण है। एक बार फिर, शेयर बाज़ार के दैनिक उतार-चढ़ाव, विभिन्न सूचकांकों की संख्या मात्र महत्वपूर्ण नहीं हैं। हालांकि, इन संख्याओं द्वारा संकेतित सामान्य प्रवृत्ति महत्वपूर्ण है। इसके होने के कारण के बारे में एक बुनियादी समझ विकसित करें और ये कैसे वर्तमान और भविष्य के परिदृश्य को प्रभावित करेगा। साथ ही, विश्व बैंक, आसियान, आईएमएफ से संबंधित समाचार अंतर्राष्ट्रीय मोर्चे पर महत्वपूर्ण हैं।

अब आइए हम चर्चा करें कि कम समय में अधिकतम लाभ पाने के लिए संपादकीय  कैसे पढ़ें।

प्रतिदिन के घटनाक्रम को कवर करने वाले स्तम्भों को नज़रअंदाज़ किया जा सकता है। आमतौर पर स्तम्भ 7-8 पैराग्राफ से बने होते हैं लेकिन प्रत्येक पंक्ति महत्वपूर्ण नहीं होती है। इनमें सिर्फ 3-4 रत्न ही होते हैं जिन्हें आप अपनी मुख्य परीक्षाओं/निबंधों/साक्षात्कार के उत्तरों को पुष्ट करने के लिए उपयोग कर सकते हैं।

साथ ही सुनिश्चित करें कि आप अपने क्षेत्र और आपके शौक से संबंधित विशिष्ट लेखों/ संपादकीयों/ समाचार आदि का अनुसरण करें क्योंकि साक्षात्कार के दौरान आप से इन पर विशेष रूप से पूछताछ की जा सकती है।

एक उदाहरण

How to read newspapers The Hindu effectively for exam preparation UPSC CSE, CAT, IIFT, SBI PO, IBPS PO

सबसे पहले, महत्वपूर्ण बिन्दुओं को उजागर करना या संक्षेप करना अत्यंत महत्वपूर्ण है।

अब, समाचार के इस खंड में क्या महत्वपूर्ण है:

  • केन-बेतवा परियोजना क्या है? (मंत्रालय, विभाग, स्थान)
  • यह वन्यजीव कार्यकर्ताओं से आलोचना के अंतर्गत क्यों है?
  • पन्ना राष्ट्रीय उद्यान कहां हैं? यहां कौन से जानवर पाए जाते हैं? पन्ना राष्ट्रीय उद्यान में वनस्पति और नदी, पर्वत श्रेणी?
  • वन्यजीव के लिए राष्ट्रीय बोर्ड की क्या भूमिका है?
  • केन और बेतवा नदियों के बारे में (उपनदी, क्षेत्र जिनके माध्यम से प्रवाह आदि)

हमें उम्मीद है कि इस लेख में आपको अच्छी तरह से जानकारी प्राप्त हुई है कि समाचार पत्रों को कैसे प्रभावी तरीके से पढ़ा जाए।

सभी नई आदतों की तरह समाचार-पत्र पढ़ना दृढ़ता के साथ अतिरिक्त समय को स्थापित करना है लेकिन एक बार यह स्थान बना ले तो यह अत्याधिक लाभप्रद है और आपकी परीक्षाओं और कैरियर के लिए चमत्कार कर सकता है।

शुभकामनाएं|

UPSC Exams Civil services exams IAS preparation IAS officer Mock tests register free mock test CSAT Oliveboard Mocks IAS Mocks How to read newspaper effectively for IAS Preparation


Leave a comment